Wednesday, 31 August 2016

Friday, June 2, 2017

हिंदी मुहावरे और अर्थ - Idioms in hindi

मुहावरा किसे कहते हैं - सामान्य अर्थ का बोध न कराकर अथवा विलक्षण अर्थ का बोध कराने वाले पदबंध को मुहावरा कहते है. इन्हे वाग्धारा भी कहते है। 


Hindi mhuhavre aur arth


मुहावरे भाषा के लाक्षिणक प्रयोग होते है। ये भाषा की साहित्यिक नीरसता से बचाकर सरस और जीवंत बनाते है। इनके मूल रूप में कभी परिवर्तन नहीं होता अर्थात इनमें किसी भी शब्द का पर्यायवाची शब्द प्रयुक्त नहीं किया जा सकता है। हाँ,क्रिया पद में काल, पुरुष, वचन आदि के अनुसार परिवर्तन अवश्य होता है। मुहावरा अपूर्ण वाक्य होता है। वाक्य प्रयोग करते समय यह वाक्य का अभिन्न अंग बन  जाता है। कुछ चुने हुए मुहावरे इस प्रकार है।

Idioms in hindi - हिंदी मुहावरे और अर्थ भाग 1 

अँधेरे घर का उजाला होना - एकमात्र सारा 

अंधे के हाथ बटेर लगाना - अनायास ही अयोग्य व्यक्ति को कोई मूल्यवान वास्तु मिल जाना। 

अंगारों से खेलना -   खतरा मोल लेना। 

अक्ल के पीछे लाठी लेकर फिरना -  मूर्खतापूर्ण कार्य करना। 

अंग-अंग ढीला होना -  बहुत थकना। 

अंगार उगलना -  जली-कटी सुनाना , क्रोध में कठोर वचन कहना। 

अगर-मगर करना - टाल  मटोल करना। 

अक्ल पर पत्थर पड़ना - बुद्धि से काम न लेना। 

अंग-अंग मुस्काना - बहुत प्रश्न होना। 

अक्ल चरने जाना - बुद्धि का न होना। 

अपना सा मुँह लेकर रह जाना - लज्जित होना। 

अपना उल्लू सीधा करना - अपना मतलब निकलना। 

अपने मुँह मियाँ मिठू बनना - अपनी प्रशंसा स्वंय करना। 

अपने पाँव पर कुल्हाड़ी मारना - अपनी हानि स्वंय करना। 

अक्ल का दुश्मन -  मुर्ख,नासमझ। 

अपना राग अलापना - अपनी बात पर अड़े रहना।

अक्ल का पुतला - बुद्धिमान। 

आँचल पसारना - भीख माँगना। 

आँखे चुराना - अनदेखा करना। 

आँखे चार होना - आमने सामने होना। 

आँखे दिखाना - क्रोध से देखना। 

आँखे फेरना - बदल जाना ,प्रतिकूल होना। 

आँखे पथरा जाना - देखते देखते थक जाना। 

आँखों का काँटा होना -  बुरा लगना। 

आँखों का तारा - बहुत प्यारा होना। 

आँखों पर बैठाना  - आदर करना। 

आँखों में धुल झोकना - धोखा देना। 

आँखों का पानी ढलना - निर्लज्ज बन जाना। 

आंसू पीकर रह जाना - मन ही मन दुखी होना। 

आंधी के आम होना -  बहुत सस्ती वस्तु मिलना। 

आँखे बिछाना - प्रेम से स्वागत करना। 

आँख उठाना - क्रोध से देखना। 

आँखों से गिरना -  आदर समाप्त हो जाना। 

आँखों पर पर्दा पड़ना - बुद्धि  भ्रष्ट हो जाना। 

आँखे बंद कर काम करना - ध्यान न देना। 

आँखों में रात कटना - रात - रात भर जागते रहना। . 

आंच न आने देना - हानि न होने देना। 

आंसू पोछना - धीरज देना। 

आकाश - पाताल एक करना - अत्यधिक परिश्रम करना। 

आटे दाल का भाव मालुम होना - वास्तविकता ज्ञात होना। 

आग-पानी का बैर - स्वाभाविक शत्रुता। 

आसमान पर चढ़ना - बहुत अभिमान करना। 

आग से खेलना - बहुत खतरनाक काम करना। 

आग बबूला होना - बहुत क्रोध करना। 

आड़े हाथों लेना - खरी-खरी सुनना। 

आप से बाहर होना - अत्यधिक क्रोध से काबू में न रहना। 

आकाश का फूल - अप्राप्य वस्तु। 

आसामन पर उड़ना - अभिमानी होना। 

आस्तीन का सांप - विश्वासघाती। 

आंसू पी जाना - भीतर भीतर ही रोना। 

इधर-इधर की हांकना - व्यर्थ के गप्पे लगाना। 

इधर -इधर की लगाना - चुगली करना। 

ईंट से ईंट बजाना - नष्ट करना, टक्कर लेना। 

ईद का चाँद -  बहुत दिनों बाद मिलने वाला। 

उधेङ-बुन -  सोच विचार करना। 

उलटी गंगा बहना - विरोधी बात करना। 

उड़ती चिड़िया पहचानना - किसी बात को दूर से ही समझना, अत्यधिक अनुभवी होना। 


हिंदी मुहावरे और अर्थ -  idioms in hindi भाग 2 

उल्लू बनाना - मुर्ख बनाना 

ऊँगली पर नचाना -अपनी इच्छा के अनुसार चलाना। 

ऊँगली उठाना - दोष निकालना। 

उठा न रखना - कमी न छोड़ना। 

ऊँगली पकड़कर पहुंचा पकड़ना - तनिक सा सहारा पाकर सारे पर अधिकार करना।

एक लाठी से हांकना - सभी के साथ एक जैसा व्यवहार करना। 

एक आँख से देखना - सभी के साथ एक जैसा व्यवहार करना। 

एड़ी चोटी का जोर लगाना - बहुत परिश्रम  करना। 

एक ही थैले के चट्टे - बट्टे - सब एक से, सभी सामान रूप से बुरे व्यक्ति। 

एक हाथ से ताली न बजना -किसी एक पक्ष का दोष न होना। 

एक और ग्यारह होना - संगठन में ही शक्ति है। 

एक ही नौका में सवार होना - एक सामान परिस्थिति में होना। 

एक आँख न भाना - तनिक भी अच्छा न लगना। 

ओंठ चबाना - क्रोध प्रकट करना। 

कटी पतंग होना - निराश्रित होना। 

कच्ची गोली खेलना - अनुभवी न होना। 

कलेजा ठंडा होना - संतोष होना। 

कलई खुलना - पोल खुलना। 

कमर कसना - किसी कार्य के लिए तैयार होना। 

कठपुतली होना - दूसरे के इसारे पर चलना। 

कलेजा थामना - दुःख सहने के लिए जी कड़ा करना। 

कमर टूटना -  हिम्मत समाप्त होना। 

कब्र में पैर लटकना - मृत्यु के समीप होना। 

कंधे से कन्धा मिलाना - पूरा सहयोग करना। 

कंठ का हार होना - अत्यंत प्रिय होना। 

कंगाली में आटा गीला - गरीबी में और अधिक हानि होना। 

कच्ची गोलियाँ खेलना - अनुभव की कमी होना। 

कड़वे घूंट पीना - कष्टदायक बात सहन कर  जाना। 

कलेजा छलनी होना - बहुत दुखी होना। 

कलेजा निकालकर रख देना - सब कुछ समर्पित कर देना। 

कलेजा फटना - असहनीय दुःख होना। 

कलेजा मुँह को आना - बहुत दुखी होना। 

कलेजे का टुकड़ा - अत्यधिक प्रिय। 

कलेजे पर पत्थर  रखना - चुपचाप सहन करना। 

कलेजे पर सांप लोटना - ईर्ष्या से जलना। 

कसौटी पर कसना - परीक्षा लेना। 

काँटे बिछाना - मार्ग में बाधा उत्पन करना। 

कागज़  काले करना - व्यर्थ लिखना। 

काठ का उल्लू - अत्यंत मुर्ख। 

कान खड़े होना - सावधान होना। 

कान पर जूँ न रेगना - असर न होना। 

कान में फूंक मारना - प्रभावित करना। 

कान भरना - चुगली करना। 

कान लगाकर सुनना - ध्यान से सुनना। 

कानो में तेल/रुई डालना - ध्यान न देना। 

काम आना - युद्ध में मरना। 

काम तमाम करना - मार देना। 

काया पलट होना - बिलकुल बदल जाना। 

कालिख पोतना - बदनाम करना। 

कागज़ की नाव - अस्थायी, क्षणभंगुर। 

कान  कतरना - बहुत चतुर होना। 

कान का कच्चा - हर किसी बात पर विशवास करने वाला। 

कागजी घोड़े दौड़ाना  - बहुत पत्र व्यवहार करना। 

किताब का कीड़ा - हर समय पढ़ते रहना। 

कीचड उछालना - बदनामी करना। 

खटाई में पड़ना - काम में रुकावट आना। 

ख़ाक में मिलना - नष्ट हो जाना। 

ख़ाक में मिलाना - नष्ट कर देना। 

ख्याली पुलाव पकाना - कपोल कल्पनाएं करना। 

खालाजी का घर - आसान काम। 

ख़ाक छानना - बेकार घूमना। 

खिचड़ी पकाना - गुप्त रूप से योजनाएं बनाना। 

खून का प्यासा - भयंकर दुश्मन। 

खून का घूँट पीना - क्रोध को अंदर ही अंदर सहना। 

खून सूखना - डर जाना। 

खून खोलना - जोश में आ जाना। 

खून- पसीना एक करना - बहुत परिश्रम करना। 

गंगा नहाना - बड़ा कार्य कर देना। 

गत बनाना - पीटना। 

गर्दन उठाना - विरोध करना। 

गले का हार - बहुत प्यारा। 

गड़े मुर्दे उखाड़ना - पुराणी बातों को दोहराना। 

गर्दन पर सवार होना - पीछे पड़े रहना। 

गाल बजाना - डांग मारना। 

गाँठ बांधना - अच्छी तरह याद करना। 

गिरगिट की तरह रंग बदलना - बहुत जल्दी अपनी बात से बदलना। 

गीदड़ भभकी - व्यर्थ की धमकी। 

गुल खिलाना - नया कार्य करना, ऐसा कार्य करना जो दूसरों को उचित न लगे। 

गोबर गणेश होना - नीरा मुर्ख। 

गेहूं के साथ घुन पिसना - दोषी के साथ उसके संग रहने वाले निर्दोष पर भी संकट आ जाना। 

गुदड़ी का लाल - निर्धन परिवार में जन्मा गुनी व्यक्ति। 

गुड़ गोबर होना - बना बनाया कार्य बिगड़ जाना। 

गूलर का फूल होना - दुर्लभ व्यक्ति या वस्तु। 

घर फूंककर तमाशा देखना - अपना नाश करके मस्ती में रहना। 

घड़ों पानी पड़ना - बहुत लज्जित होना। 

पल में तोला पल में माशा - अस्थिर चित वाला व्यक्ति। 

घर में गंगा बहाना - बिना कठिनाई के कोई वस्तु प्राप्त होना, सुविधा होना। 

घास खोदना - व्यर्थ समय गंवाना। 

घाट - घाट का पानी पीना - बहुत अनुभवी होना। 

घी के दिए जलाना - ख़ुशी मनाना। 

घुटने टेकना - हार मान लेना। 

घोड़े बेचकर सोना - गहरी नींद सोना। 

चलती चक्की में रोड़ा अटकना - कार्य में बाधा डालना। 

चांदी होना - लाभ ही लाभ होना। 

चादर से बाहर पैर पसारना - आमदनी से अधिक खर्च करना। 

चादर तानकर सोना - निश्चित होना। 

चार चाँद लगाना - सोभा बढ़ाना। 

चार दिन की चांदनी - अस्थायी सुख, वैभव का। 

फिर अँधेरी रात - क्षणिक होना। 

चिराग तले अँधेरा - दूसरों को उपदेश देने वाले व्यक्ति का स्वंय अच्छा आचरण नहीं करना। 

चिकना घड़ा होना - कोई प्रभाव न पड़ना। 

चिकनी-चुपड़ी बातें करना - मीठी-मीठी बातें करके धोखा देना, खुशामद करना। 

चेहरे पर हवाइयाँ उड़ना - घबरा जाना। 

चैन की बंसी बजाना - सुख से रहना। 

चुल्लू भर पानी में डूब मरना - शर्म महसूस करना। 

चोली दामन का साथ - घनिष्ट संबध। 

छक्के छुड़ाना - बुरी तरह हरा देना। 

छठी का दूध याद आना - बहुत दुःख का अनुभव करना। 

छपड़ फाड़कर देना - बिना प्रयास के सम्पति मिलना। 

छाती पर पत्थर रखना - चुपचाप दुःख सहन करना। 

छाती पर सांप लौटना - बहुत ईर्ष्या होना। 

जलती आग में कूदना - विपत्ति में पड़ना। 

जहर का घूँट पीना - क्रोध सहन करना, अन्याय सहन करना। 

जान के लाले पड़ना - गंभीर संकट में पड़ना। 

जान पर खेलना - स्वंय को संकट में डालना। 

जी भर जाना - हृदय द्रवित होना। 

जीती मक्खी  निगलना - जान बूझकर कोई अनुचित काम करना। 

जूते चाटना - खुशामद करना। 

झोली भरना - अपेक्षा से अधिक दे देना। 

टक्का सा जवाब देना - दो टूक उत्तर देना। 

टांग अड़ाना - हस्तक्षेप करना। 

टेढ़ी ऊँगली से घी निकालना - शक्ति से कार्य सिद्ध करना। 

टेढ़ी खीर - कठिन काम। 

टूट पड़ना - सहसा आक्रमण कर देना। 

टोपी उछालना - अपमान करना। 

ठन- ठन गोपाल - निर्धन व्यक्ति, कंगाल व्यक्ति। 

ठंडा पड़ना - क्रोध शांत होना। 

ठिकाने आना - ठीक स्थान पर आना। 

ढेर करना - मारकर गिराना। 

तारे गिनना - व्यग्रता से प्रतीक्षा करना। 

तितर बितर हो जाना - बिखर कर भाग जाना। 

तिल का ताड़ होना - बात को बहुत बढ़ा - चढ़ाकर कहना। 

तूती बोलना - बहुत प्रभाव होना। 

तेली का बैल होना - सदा काम करते रहना। 

थाली का बैंगन - हानि लाभ देखकर पक्ष बदलने वाला। 

दबे पाँव चलना - ऐसे चलने जिससे चलने की कोई आहट न हो। 

दांत काटी रोटी होना - घनिष्ट मित्रता होना। 

दांत उखाड़ना - कड़ा दंड देना। 

दांत पीसना - क्रोध करना। 

दांत खट्टे करना - हराना, नीचे दिखाना। 

दांतो तले ऊँगली दबाना - हैरान होना। 

दामन पकड़ना - सहारा लेना। 

दाल न गलना - सफल होना। 

idioms in hindi - Hindi muhavare aur arth भाग 3 

दाल में काला होना - गड़बड़ होना। 

दाहिना हाथ - बहुत बड़ा सहायक। 

दिन फिरना - भाग्य पलटना। 

दूध का दूध पानी का पानी - ठीक - ठीक न्याय करना। 

दो नावों पर पैर रखना - एक साथ दो लक्ष्य पाने की चेस्टा करना। 

दो टूक जवाब देना - साफ़ - साफ़ उत्तर देना। 

द्रष्टि फेरना - अप्रसन होना। 

धुल हांकना - व्यर्थ में भटकना। 

धरती पर पाँव न पड़ना - अभिमान में रहना। 

नाक पर मक्खी न बैठने देना - बहुत साफ़ रहना। 

नानी याद आना - कठिनाई में पड़ना। 

नौ दिन चले अढ़ाई कोस - बहुत धीमी गति से कार्य करना। 

पेट बांधकर रहना - भूखे रहना। 

पेट में रखना - बात छिपाकर रखना। 

पैर उखड़ना - भागने पर विवश होना। 

पैर जमीन पर न टिकना - प्रसन्न होना, अभिमानी होना। 

बाल की खाल निकालना - बहुत तर्क-वितर्क करना। 

मक्खन लगाना - चापलूसी करना। 

मुँह तोड़ जवाब देना - बदले में करारी चोट करना। 

मुठी में होना - वश में होना। 

मुठी गर्म करना - रिश्वत देना। 

रफूचकर होना - भाग जाना। 

रंग उड़ना - घबरा जाना। 

रंग में भंग पड़ना - ख़ुशी में बाधा पड़ना। 

रंगा सियार होना - धोखा देने वाला। 

राई का पहाड़ बनाना - छोटी सी बात को बढ़ा चढ़ाकर प्रस्तुत करना। 

रोड़ा अटकना - बाधा डालना। 

लकीर का फ़कीर होना - प्राचीन परम्पराओं को सख्ती से मानने वाला। 

लटटू होना - मोहित होना। 

लहू का घूँट पीकर रह जाना - विवशता से अपमान करना। 

लाल - पीला होना - क्रोध करना, क्रोधित होना। 

लुटिया डुबोना - कार्य बिगाड़ देना। 

लोहा मानना - दूसरे का प्रभाव स्वीकार करना। 

लोहे के चने चबाना - बहुत संघर्ष करना। 

विष उगलना - द्वेषपूर्ण बातें करना। 

सब्ज बाग़ दिखाना - लोभ दिखाकर बहकाना 

सांप को दूध पिलाना - दुस्ट की रक्षा करना। 

सांप - छछूंदर की गति होना - दुविधा में होना। 

सिर उठाना - विद्रोह करना। 

सिर ओखली में देना - जानबूझकर मुसीबत मोल लेना। 

सिर पर कफ़न बांधना - प्राणों की चिंता न करना। 

सिर पर चढ़ाना - अत्यधिक मनमानी करने की छूट देना। 

सिर से पानी गुजर जाना - सहनशीलता समाप्त होना। 

सिर आंखों पर उठाना - बहुत सम्मान करना। 

सिर पर पाँव रखकर भागना - तेजी से भागना। 

सिर धुनना - पछताना। 

सोने पे सुहागा होना - अच्छी वस्तु का और अधिक अच्छा होना। 

हाथ डालना - आरम्भ करना। 

हाथों के तोते उड़ाना - घबरा जाना। 

हाथ पाँव फूलना - डरना, घबराना। 

हाथ का मैल - साधारण चीज। 

हाथ खींचना - सहायता न करना। 

हाथ कट जाना - परवश होना। 

हाथ में करना - अपने वश में करना। 

हवा पलटना - समय बदल जाना। 

हवा से बातें करना - बहुत तेज दौड़ना। 

हवा हो जाना - गायब हो जाना। 

हवा का रुख पहचानना - अवसर की आवश्यकता को पहचानाना। 

हवा लगना - असर होना। 

हवाई किले बनाना - ऊँची-ऊँची कपोल कल्पनाएं करना। 

हथियार डालना - हार मान लेना। 

हथेली पर सरसों उगाना - कम समय में अधिक कार्य कार्य करना। 

हक्का -बक्का रह जाना - हैरान रह  जाना। 

हाथ फैलाना - माँगना।  

हाथ मलना - पछताना। 

हाथ धोकर पीछे पड़ना - पीछा न छोड़ना। 

हाथ साफ़ करना - चुरा लेना। 

हाथ पाँव मारना - प्रयास करना। 

हाथों के तोते उड़ना -अचानक घबरा जाना। 

हाथ को हाथ न सूझना - घना अँधेरा होना। 

हुक्का -पानी बंद करना - जाती से बाहर कर देना। 

इस artilce को social sites पर शेयर जरूर करे। 

0 comments:

Post a Comment

Categories

About Me

My photo
नमस्कार दोस्तों। मेरा नाम कमलेश परिहार है मैं जैसलमेर से हूँ। और मैं एक पेशेवर (professional blogger) ब्लॉगर हूँ मेरी ये वेबसाइट education और technology से संबधित है जहाँ पर में लोगों को ब्लॉग्गिंग मार्गदर्शन ,करियर मार्गदर्शन और शिक्षा और इंटरनेट से जुडी जानकारियां शेयर करता हूँ। आपको यहाँ प्रतिदिन कोई न कोई नई जानकारी जरूर मिलेगी। हमारे ब्लॉग टॉपिक से संबधित आपका सवाल है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है। धन्यवाद।