Wednesday, 31 August 2016

Sunday, June 11, 2017

Computer Kya Hai? Computer knowledge in hindi

Computer basic knowledge in hindi नमस्कार दोस्तों आज हम इस post के माध्यम से आपको बता रहे है की कंप्यूटर क्या होता है, इसकी प्रमुख भाषाएं कौन-कौन सी है और कंप्यूटर के प्रमुख भाग कौनसे होते है। 

जबसे कंप्यूटर बना है science बहुत आगे बढ़ गया है। ये एक technology का अविश्वसनीय अविष्कार है। आज लगभग  दुनिया के हर कोने तक इसकी पहुंच है। बच्चा - बच्चा computer से वाकिफ है। students, business person, service man हर के किसी के जीवन का अभिन्न part बन चुका है। 

इसके अलावा भी दुनिया के कई ऐसे इलाके है जहाँ तक अभी तक कंप्यूटर नहीं पहुँच पाया है और वो computer के बारे में नहीं जानते या बहुत कम जानते है। तो ये post आपके लिए है इसके इसमें आपको computer fundamental in hindi के बारे में पूरी जानकरी आपके साथ शेयर करंगे। 

Basic knowledge of computer fundamental - computer ki poori jankari 

कंप्यूटर क्या है - आज का युग कंप्यूटर का युग है। आज के जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में कंप्यूटर का समावेश है। वृहत पैमाने  पर गणना करने वाले इलेक्ट्रॉनिक संयत्र को संगणक अथवा कंप्यूटर कहते है। साधारण शब्दो में ऐसे कोई भी कार्य जो बड़े पैमाने पर इन्टरनेट पर जिस उपकरण पर किये जाते है उसे कंप्यूटर कहते है। 


Basic knowledg of computer fundamental in hindi


अर्थात कंप्यूटर वह device है जिसके द्वारा स्वचालित रूप से विविध प्रकार के data को संसाधित एंव संचयित किया जाता है। वर्तमान स्वरुप का पहला कंप्यूटर मार्क - 1 था जो 1937 ईसवीं में बना था। 

कंप्यूटर के कार्य - वैसे तो कंप्यूटर के कार्यों के बारे में किसी notebook में लिखे तो कलम की स्याही खत्म हो जाए। पर यदि हम technically रूप से देखे तो उसके चार मुख्य कार्य हमारे सामने आते है। 
  • आंकड़ों का संकलन या निवेशन। 
  • आंकड़ों का संचयन।
  • आंकड़ों का संसाधन। 
  • आंकड़ों या प्राप्त जानकारी का निर्गमन या पुनर्निर्गमन। आंकड़े लिखित,मुद्रित,श्रव्य द्रश्य रेखांकित या यांत्रिक चेष्टाओं के रूप में हो सकते है। 
कंप्यूटर इन कार्यों को दो प्रमुख भागो के द्वारा सम्पन करता है - हार्डवेयर और सॉफ्टवेर। 

हार्डवेयर क्या है - कंप्यूटर और उसके सलंग्न सभी यंत्रो और उपकरणों को हार्डवेयर कहा जाता है यानी कंप्यूटर के सभी भागो जैसे CPU, Keyboard, memory, monitor, mother board आदि को मिलाकर हार्डवेयर कहा जाता है। 

सॉफ्टवेर क्या है - सॉफ्टवेर उसे कहते है जो कंप्यूटर में पहले से नहीं होते है उसे बाद में कहीं play store या की अन्य websites से ख़रीदा जाते है। जैसे photoshop, antivirus, games apps, आदि अतः कंप्यूटर के संचालन के लिए निर्मित प्रोग्रामों को सॉफ्टवेर कहा जाता है। 

कंप्यूटर की भाषाएँ (languages  of computer ) 

कंप्यूटर  की भाषाओँ को मुख्यतः तीन वर्गों में बांटा जा सकता है। 
1. मशीनी कूट भाषा (machine code language)
2. एसेम्बली कूट भाषा (assembly code language) 
3. उच्च स्तरीय भाषाएँ (High level language)

मशीनी कूट भाषा - इस भाषा में प्रत्येक आदेश के दो भाग होते है - आदेश कोड (operation code) तथा स्थिति code (Location code) इन दोनों को 0 और 1 के क्रम में समूहित किया जाता है। कंप्यूटर के प्रारंभिक दिनों में programmers द्वारा कंप्यूटर को आदेश देने के लिए 0 तथा 1 के विभिन्न क्रर्मो का ही प्रयोग किया जाता था। यह भाषा समयग्राही थी। जिसके कारण असेम्बली एंव उच्च स्तरीय भाषाओँ का प्रयोग किया जाने लगा। 

असेम्बली भाषा - इस भाषा में याद रखे जाने लायक CODE का प्रयोग किया जाता है। जिसे नेमोनिक कोड कहा गया। जैसे addition के लिए add substraction के लिए sub एंव jmp लिखा गया। परन्तु इस भाषा का प्रयोग एक निश्चित सरंचना वाले कंप्यूटर तक ही सिमित था।अतः इन भाषाओ को निम्न स्तरीय भाषा कहा गया। 


उच्च स्तरीय भाषाएं - उच्च स्तरीय भाषाओँ के विकास का श्रेय IBM company  को जाता है। फॉरट्रेन (FORTRAIN) नामक पहली उच्च स्तरीय भाषा का विकास इसी कंपनी के प्रयास से हुआ। इसके बाद सैंकड़ों उच्च स्तरीय भाषाओं का विकास हुआ। ये भाषाएं मनुष्य के आम बोलचाल के लिए और लिखने में प्रयुक्त होने वाली भाषाओं के काफी करीब थी। कुछ उच्च स्तरीय भाषाएं निम्न प्रकार है -

A. फॉरट्रेन (Fortran) - कंप्यूटर के इस language का विकास IBM के सौजन्य से डब्ल्यू. बेकस ने 1957 में किया था। इस भाषा का विकास गणितीय सूत्रों  आसानी से और कम समय में हल करने के लिए किया था। 

B. कोबोल (Cobol) - कोबोल वास्तव में common business oriented language का संक्षिप्त रूप है। इस भाषा का विकास व्यावसायिक हितों के लिए किया गया। इसकी भाषा की संक्रिया के लिए लिखे गए वाक्यों के समूह को पैराग्राफ  कहते है। सभी पैराग्राफ मिलकर एक section बनाते है और सेक्शनों से मिलकर division बनता है।  

C. बेसिक (Basic) - यह अंग्रेजी के शब्दों बिंगनर्स ऑल पर्पस  सिम्बोलिक इंस्ट्रक्शन कोड का संक्षिप्त रूप है। इस भाषा में प्रोग्राम में निहित आदेश के किसी निश्चित भाग को निष्पादित किया जा सकता है, जबकि इससे पहले की भाषाओँ में पूरे प्रोग्राम को कंप्यूटर में डालना होता था और प्रोग्राम के ठीक होने पर आगे के कार्य निष्पादित होते थे। 

D. अल्गोल (Alogol) - यह इंग्लिश के algorithmic  language का संक्षिप्त रूप है। इसका निर्माण जटिल बीज गणितीय गणनाओ में प्रयोग हेतु बनाया गया था। 

E. पास्कल (Pascal) - यह alogol का परिवर्तित रूप है। इसमें सभी चरों को परिभाषित किया किया जाता है जिसके कारण यह alogol एंव basic से भिन्न है। 

F. कोमाल (Comal) - यह common algorithmic language का short roop है। 

G. लोगो (Logo) - इस भाषा का use छोटी उम्र के बच्चों को ग्राफिक रेखानुकृतियों की शिक्षा देने के लिए किया जाता है। 

H. प्रोलोग (Prolog) - यह word programming in logic का short रूप है। इस भाषा का विकास 1973 ईसवीं में फ़्रांस में किया गया था। इसका विकास कृत्रिम बुद्धि के कार्यों के लिए किया गया जो तार्किक programming में सक्षम है। 

I. फ़ोर्थ (Forth) - इस भाषा का अविष्कार चार्ल्स मूरे ने किया था। इसका उपयोग कंप्यूटर के सभी कार्यो में होता है। इन सभी उच्च स्तरीय भाषाओं में एक समानता है। की लगभग सभी में अंग्रेजी के वर्णो (A,B,C,D,...आदि) एंव इंडो - अरेबियन अंको (0,1,2,3,4....आदि) के लिए किया जाता है। 

Note : - PILOT, C, C++, LISP, UNIX AND ANOBOL कुछ अन्य उच्च स्तरीय भाषाएँ है। 


कंप्यूटर के प्रमुख भाग - basic parts of computer in hindi 

CPU - यह central processing unit की short फॉर्म है। इसे computer को on करने के लिए इसे करते है। इसे कंप्यूटर का मस्तिक भी कहा जाता है। 

RAM - यानी random access memory. सामान्य भाषा में इसे computer की याददास्त कहा जाता है। जिसमे हम data को folder बनाकर सेव कर सकते है। RAM की गणना मेगाबाइट्स से होती है। 

ROM - read only memory.  यह हार्डवेयर का वह पार्ट है जिसमे सभी information permanently रूप से इकठ्ठा रहती है। और जो कंप्यूटर को प्रोग्राम संचालित करने का निर्देश देता है। 

Hard-disk - इसमें कंप्यूटर के लिए प्रोग्रामों को store करने का कार्य होता है। 

Mother-board - यह सर्किट बोर्ड होता है जिसमे कंप्यूटर के प्रत्येक प्लग लगाए जाते है। CPU RAM आदि यूनिटें मदर बोर्ड में ही संयोजित होती है। 

Floppy Disk Drive - यह सूचनाओं को सुरक्षित करने या सूचनाओ का एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में आदान-प्रदान करने में प्रयुक्त होता है। 

CD-ROM - सीडी रोम यानी compact disk छोटे से आकार में होते हुए भी बहुत बड़ी मात्रा में आंकड़ों एंव चित्रो को ध्यनियों के साथ संग्रहित करने में सक्षम होता है। 

Key-board - कंप्यूटर की लेखन प्रणाली के लिए उपयोग में लाया जाने वाला उपकरण की बोर्ड कहलाता है। सामान्यतः 101 कीबोर्ड को अच्छा माना जाता है। 

Mouse - इसकी सहायता से स्क्रीन पर कंप्यूटर के विभिन्न प्रोग्रामों को ऐसे के माध्यम से संचालित किया जाता है। 

Monitor - इस पर कंप्यूटर में निहित जानकारियों को देखा जाता है। अच्छे रंगीन मॉनिटर में 256 रंग आते है। मॉनिटर में डॉट पिच का उपयोग होता है। डॉट पिच पर जितने कम नंबर होते है। स्क्रीन पर उभरने वाली छवि उतनी ही साफ़ और गहराई के लिए होती है। 

Sound-card - यह जरुरी बातों और जानकारियों को सुनने के साथ-साथ मल्टीमीडिया के बढ़ते प्रयोग के लिए आवश्यक है। 

Printer - इसकी help से computer पर अंकित आंकड़ों को कागज़ पर मुद्रित किया जाता है। डॉट मैट्रिक्स, इंक जेट,बबल जेट और लेजर जेट प्रमुख प्रिंटर है। 


कंप्यूटर वायरस क्या है - What is Computer virus  ?

कंप्यूटर वायरस एक प्रकार का इलेक्रोनिक कोड है, जिसका उपयोग कंप्यूटर में समाहित सूचनाओ को समाप्त करने के लिए होता है। इसे कंप्यूटर प्रोग्राम में, किसी टेलीफोन लाइन में दुर्भावनावश प्रेषित किया जा सकता है। 

इस कोड से गलत सूचनाएं मिल सकती है, एकत्रित जानकारी नष्ट हो सकती है तथा यदि कोई कंप्यूटर किसी नेटवर्क से जुड़ा है तो इलेक्ट्रॉनिक रूप से जुड़े होने के कारण यह वायरस सम्पूर्ण नेटवर्क को प्रभावित कर सकता है। 

फ्लॉपियों के आदान-प्रदान  से भी वायरस के फैलने का डर रहता है। ये महीनो,सालों तक बिना पहचाने गए ही कंप्यूटर में पड़े रह सकते है और इसे क्षति पहुंचा सकते है। इनकी रोकथाम के लिए इलेक्ट्रॉनिक सुरक्षा व्यवस्था विकसित की गयी है। कुछ मुख्य कंप्यूटर वायरस है - michel angelo, dark avenger, kilo, filip, c brain, bloody, change mungu. 

So friends ये थी हमारी पोस्ट Computer knowledge in hindi . मैं उम्मीद करता हूँ की इसमें आपको कंप्यूटर के बारे में लगभग पूरी जानकारी मिली होगी। आपको ये पोस्ट कैसी लगी आप हमें comment के through बता सकते है। और कृपया इस पोस्ट को share जरूर करे। 

4 comments:

  1. बहुत ही सुन्दर प्रस्तुति ... शानदार पोस्ट .... Nice article with awesome depiction!! :) :)

    ReplyDelete
  2. Bhut hi acche tarike se aap ne computer ka basic kaowledge diya h dhanyewad keep visiting

    ReplyDelete
  3. bahut achhi jankari di aapne.

    Also visit :

    www.supportmeyaar.com

    ReplyDelete
  4. Aapne Bahut Achi Post Share Ki Hai

    ReplyDelete

हमें Social Media पर फॉलो जरूर कर -

Categories

About Me

My photo
नमस्कार दोस्तों। मेरा नाम कमलेश परिहार है मैं जैसलमेर से हूँ। और मैं एक पेशेवर (professional blogger) ब्लॉगर हूँ मेरी ये वेबसाइट education और technology से संबधित है जहाँ पर में लोगों को ब्लॉग्गिंग मार्गदर्शन ,करियर मार्गदर्शन और शिक्षा और इंटरनेट से जुडी जानकारियां शेयर करता हूँ। आपको यहाँ प्रतिदिन कोई न कोई नई जानकारी जरूर मिलेगी। हमारे ब्लॉग टॉपिक से संबधित आपका सवाल है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है। धन्यवाद।