Wednesday, 31 August 2016

Sunday, April 16, 2017

business कैसे करे ? बिजनेस में सफलता दिलाएंगी ये खूबियां

Business tips in hindi - how to start a business in hindi. बिजनेस तो कोई भी शुरू कर सकता है but कितने ऐसे होते जो उसे ऊंचाइयों तक ले जाते है। दुनिया में बहुत से ऐसे business persons है लेकिन उन मे से कुछ ही ऐसे है जिनका नाम हर कोई जानता है। बिजनेस शुरू करने वाला हर शख्स इन्ही top businessman की तरह बनना चाहता है। कई लोग इन्ही से inspire होकर अपना व्यापार start करते है। 

business tips in hindi


हालांकि सोचने वाली बात यह है की दुनिया के इन top businessman में आखिर ऐसी कौनसी Specialties है जो इन्हे सबसे अलग करती है। वे कौनसी विशेषताएं है जिनसे ये सभी इतने ऊँचे मुकाम को हासिल कर पाएं। वैसे तो हर किसी की अपनी - अपनी अलग-अलग specialties होती है जो common होती है। यही खासियतें उन्हें सबसे जुदा करती है। जानते है ऐसी ही कुछ खूबियों और तरीकों के बारे में जो आपको भी बना सकती है successful businessman. 


Business में सफलता कैसे प्राप्त करे?

business में success पाने के लिए अपनी जोश के साथ-साथ कुछ खास खूबियों का होना भी जरुरी है। world के दिग्गज entrepreneurs में भी ये खूबियां है तभी आज वे इस मुकाम तक पहुँच पाए है। ये खूबियां न सिर्फ आपको business start करने में help करेगी बल्कि business में आपको सफलता का स्वाद भी चखाएगी। 

संतुलन का महत्व समझे (Understand the importance of balance) - वास्तव में सफल entrepreneurs जानते है की life में business चलाने के अलावा भी बहुत कुछ है। वे अपनी family के साथ भी टाइम spend करते है। वे काम से break लेकर छुट्टी पर भी जाते है। वॉरेन बफेट ने 2012 में MBA students को अपनी सफलता के कुछ ऐसी ही कारण बताये थे। अगर आपको एक सफल व्यापारी बनना है तो अपनी professional और personal life में balance बनाना आना चाहिए। आपको सीखना होगा की business के साथ निजी जिंदगी को भी time देना चाहिए। 

विफलता को स्वीकार करे (Accept the failure) - सफलता के साथ ही के सच्चे एंटरप्रन्योर को विफलता को भी accept करना भी आना चाहिए। अगर आप हार के दर से business में risk नहीं लेंगे तो आगे नहीं बढ़ पाएंगे। whatsapp के founder ब्रायन एक्टन और जैन कॉम को एक समय facebook ने नौकरी के लिए reject कर दिया था लेकिन वे इससे disappointed नहीं हुए और whatsapp को इतना बड़ा बना दिया की उन्हें reject करने वाले facebook को whatsapp खरीदना पड़ा। 

सही समय पर ना कहना सीखे (Do not say right at the right time)- बिज़नेस में आप हर काम या शख्स के लिए समय नहीं निकाल सकते।दिग्गज जानते है की उन्हें केवल ज्यादा सामर्थ्य ideas पर ध्यान focus करना है। स्टीव जॉब्स ना कहने में expert थे। 1997 में जब स्टीव apple में लौटें उस समय कम्पनी में 350 तरह के products थे। जॉब्स ने 2 साल में इसे घटाकर 10 product कर दिया। सफल होने के लिए जरुरी है कब,और कैसे ना कहना है यह सीखना जरुरी है। 

बोले कम सुने ज्यादा (Speak less, listen more) - यह बात आपको अजीब लग सकती है लेकिन बड़े - बड़े एंटरप्रन्योर इस पर अमल (Execution)करते है। वे मानते है की दूसरों को सुनने से काफी कुछ सीखने को मिलता है। aaple company के founder स्टीव जॉब्स हमेशा अपने साथ सलाहकारों (Consultants) की team रखते थे जो उन्हें Important decision लेने में मदद करते थे। 

चीजों के प्रति जिज्ञासु बने (Became curious about things)Curiosity किसी भी success आदमी की Fundamental specialty है। सफल entrepreneurs आस-पास हो रही गतिविधियों को normal मानकर जिंदगी नहीं जीते। वे हमेशा चीजों बेहतर बनाने के लिए दूसरा रास्ता ढूंढते है। इनोम के SEO और founder नवीन जैन कहते है की पृथ्वी पर सबसे कीमती संसाधन है बड़े सपने देखने वाले। अगर थॉमस एडिसन जिज्ञासु नहीं होते तो वो इतना महान अविष्कार नहीं कर पाते। 

जो आप नहीं जानते उसे स्वीकारे - (Accept what you do not know)  - सफल एंटरप्रेन्योर्स के बारे में एक आम भ्रान्ति (Delusion)यह है की वे आमतौर पर अभिमानी होते है। और समझते है की वे सब कुछ जानते है। हालांकि अगर आप खुद ढूंढेगे तो पाएंगे की अधिकतर सफल और self made entrepreneurs कहीं से भी घमंडी नहीं होते है, अगर वे किसी चीज के बारे में नहीं जानते तो वे सबसे पहले इस बात को स्वीकार करते है। 

वे जितना ज्यादा सीखते है, उतना ही  ज्यादा पाते है की वे क्या नहीं जानते। अगर आप किसी चीज के बारे में नहीं जानते है तो इससे accept करने में झिझके (Hesitation) नहीं  बल्कि उसे सीखे। अगर आप वाकई सफल होना चाहते है तो आपको अपनी life के experience से सीखना होगा। आपको अपनी Criticism को सही तरीके से हैंडल करने के लिए तैयार रहना होगा। 

Also read 


business को आगे ले जाने के लिए बने शानदार leader 

business को आगे ले जाने की responsibility एक leader की होती है। व्यपार में हर decision की जवाबदेही (Accountability) उसी की होती है। अगर वह अपनी responsibility को अच्छे से निभाता है तो बिजनेस continue increase होता है। बिज़नेस की सफलता में बेहतर leadership का important role होता है।  

स्टाफ की काबिलियत को पहचाने (Recognize Staff's ability)- एक अच्छे लीडर में अपने स्टाफ की काबिलियत पहचानने का गुण होना बहुत जरुरी है। उसे अपने सभी कर्मचारियों की power और Weaknesses का पता होना चाहिए ताकि वह समय आने पर सही कर्मचारी की जिम्मेदारी निभा सके। 

खूब पर संयम रखे (Restrain yourself)- बिज़नेस में हमेशा समय एक जैसा नहीं रहता। कई बार आपको विपरीत परिस्थितियों का सामना करना पड़ता है। एक difficult time में एक काबिल leader अपना आप नहीं खोता और संयम बनाए रखता है। वह अपने स्टाफ को झुंझलाता नहीं है बल्कि अपनी टीम का मनोबल बढ़ता है और उसे संभलकर काम करने के लिए inspire करता है। 

होमवर्क जरूर करे  - कोई भी धंधा शुरू करने या उस से संबधित कोई फैसला लेने से पहले उस work से related homework करना जरुरी होता है। एक अच्छा leader हमेशा इस rule को फॉलो करता है। अगर आप किसी चीज या decision पर शोध  करेंगे,उसके सभी पहलुओं पर ध्यान देंगे तो कोई भी आपको confuse नहीं कर पायेगा। साथ ही,अपने leader को ऐसा करता देख, स्टाफ भी पूरी तैयारी करने के बाद ही उस काम को शुरू करेगा। 

टीम भावना बनाये (Make your team spirit) - एक बेहतरीन leader always अपनी team की help करता है। बतौर लीडर अपनी टीम से regular संवाद बनाये रखे। business की straightedge में पारदर्शिता (Transparency)लाये। अपनी टीम के साथ ख़ुशी के पल भी बांटे ताकि टीम management मजबूत हो। 

I hope friends की business कैसे start करे और उसे कैसे सफल बनाये उसके लिए आपको ये तरीके जरूर पसंद आये होंगे। इसके आलावा आप workplace की tension को काम करने के shedule बनाकर काम कर और अपने अंदर new -new और अनोखे business ideas generate करे। आपको सफलता जरूर मिलेगी। 

अगर आपको ये business tips in hindi पोस्ट पसंद आयी हो तो इससे social sites पर शेयर जरूर करे। 

Friday, April 14, 2017

अमीर कैसे बने - धनवान बनने के 8 आसान तरीके

अमीर कैसे बने, करोड़ पति कैसे बने। world में ऐसा कौन है जो अमीर नहीं बनना चाहता हो अमीर बनना हर किसी का dream  होता है। but हमें clear idea नहीं मिलता की हम धनवान कैसे बने। ऐसे तो कई छोटे - मोटे Govt and private jobs है जिससे आप पैसे कमा सकते है उससे बस हमारे घर का खर्च निकल सकता है और अपनी छोटी - मोटी जरूरते complete  कर सकते है लेकिन आज के इस Inflation के दौर में हम अपने सपने Realizing नहीं कर पाते है। इसके लिए आपको ऐसा कोई काम चाहिए जिससे आप जिससे आप rich man बन सके।  


how to become a rich man


How to become rich - amir kaise bane

हम धनवान बनना तो चाहते है पर हमे ऐसा कोई Solid solution नहीं मिल पाता की जिससे हमे अपने target में success हो सके। हमारे दिमाग में कैसे कई  ऐसे qusestion आते है जैसे 
  • अमीर बनने के लिए exactly क्या करे।
  • क्या कोई magic हमें अमीर बना सकता है। 
  • हमारा luck नहीं होता। 
  • अमीर बनने के लिए भी पैसा लगता है। 
  • धनवान बनने के टोटके क्या है
कई people ऐसे भी होते है जो rich बनने के लिए wrong ways (गलत रास्ता) तक अपना लेते है और बाद में पछताते है because उनके पास कोई idea नहीं होता की दुनिया में उन wrong ways के अलावा भी कई ऐसे  methods है जिससे वो 100 percent rich man बन सकते है। 
in this article हम कुछ ऐसे ही  प्रसिद्ध तरीकों के बारे में Analysis करंगे जिससे आप अमीर बन सकते है। 

दुनिया में अमीर बनने के famous तरीके

1. Internet  marketing 

अमीर बनने का ये  सबसे बढ़िया तरीकों में से एक है पिछले 15 - 20 भारत और पूरीं दुनिया में लाखो ऐसे लोग है जो internet marketing में successful है और लाखो रूपए कमा रहे है। अमीर बनने का इससे बढ़िया method नहीं हो सकता है आज के समय में लोग direct मार्केट से उत्पाद खरीदने की बजाय online shopping को ज्यादा importancy दे रहे है जो internet marketing की सफलता है। इन्टरनेट मार्केटिंग को हम एक उदाहरण द्वारा समझ सकते है मान लेते है की इन्टरनेट बाजार है जिस तरह हम बाजार में Product खरीदते और sell करते है ठीक उसी प्रकार हम online luggage और product को buy करने  और sell करने को इन्टरनेट मार्केटिंग कह सकते है। मुख्यतः तीन तरह से हम इनमे पैसे कमा  सकते है। 

(A) Make money online programme - आप ऑनलाइन जुड़कर पैसे कमा सकते है और अमीर बन सकते है आधुनिक काल में internet पर कई ऐसे प्रोग्राम है जिससे आप लाखो रuppes monthly काम सकते है लेकिन इसके लिए आपको hard work और smart वर्क करना पड़ेगा। अगर आप वाकई इस काम को करना कहते है तो आप easily  बिना की difficulty के कर सकते है। like online surveys, fiverr, freelanicing sites, smart phone app making ऐसे कई ऑनलाइन वर्क आप कर सकते है। 

(B) Sell your own product (अपना खुद का उत्पाद बेचकर ) - दूसरा तरीका है आप अपना product (उत्पाद)ऑनलाइन इन्टरनेट पर बेच सकते हो।  अगर आपका कोई छोटा - मोटा business है तो आप उसकी वेबसाइट बनाकर उसको और improve कर सकते है यानी अपनी बनायीं हुई चीजो को इन्टरनेट पर बेच सकते है।  इसके अलावा आप famous selling sites जैसे Flipkart, Amazon, eBay etc के पर एक विक्रेता के रूप में काम कर सकते है और महीने के लाखो कमा सकते है। इसके लिए आपके पास ऐसी विक्रेता की खूबियां होनी चाहिए जिसे आप ग्राहकों को लुभा सके और उत्पाद विक्रय कर सके 

(C) Sell other's product online (दूसरों का सामान ऑनलाइन बेचकर ) - क्या आपके अंदर online selling की नॉलेज है तो आप online shoping sites जैसे amazon, flipkart , snapdeal जैसे famous websites  पर ऑनलाइन affiliate programmer बन सकते है जिसमे आपको इन कंपनियों के सामान को ऑनलाइन बेचना है अगर आप per day 4-5 प्रोडक्ट आसानी से बेच पाते है तो आप एक दिन में 10 thousand से 15thousand तक आसानी से कमा सकते है। ये आपके द्वारा sell किये गए प्रोडक्ट की price पर dipend करता है। 

2 .Start a own ब्लॉग (website) (अपनी खुद की वेबसाइट बनाकर) 

क्या आपको अपनी काबिलियत होने के बावजूद भी कोई job या service नहीं मिली या फिर आप अपने job को से संतुस्ट नहीं है dont' worry अपनी उसी एबिलिटी या नॉलेज से कई ज्यादा रूपए कमा सकते है। इसके लिए आपको एक़ website बनानी पड़ेगी और उसमे आपको अपना knowledge शेयर करना पड़ेगा फिर देखो आपको क्या परिणाम  मिलता है। अगर आपको टीचिंग की जानकारी है तो आप टीचिंग वेबसाइट बना सकते है। कंप्यूटर की बहुत ही अच्छी नॉलेज है या किसी अन्य फील्ड में आपकी बादशाहत है तो आप उसको अपने ब्लॉग के द्वारा लोगो को बता सकते हो। 
ब्लॉग क्या है और इसको कैसे बनाते है पूरी जानकारी के लिए ये पोस्ट पढ़े -Website kya hai apni website kaise banaye

3.Become a Youtube partner

Youtube का use आप विडियो देखने के लिए करते है पर आपको ये पता की आप जो वीडियो देख रहे है वो किसका है इस विडियो से किसने यूट्यूब पर डाला और इससे उसको क्या फायदा होता होगा तो में आपको यहाँ आपको बताना चाहूंगा की youtube पर जो videos आप देखते है वो हम जैसे ही लोग होते है जो उस विडियो को यूट्यूब पर डालते है और जब हम उस विडियो को देखते है तो उसको पैसे मिलते है आप विडियो देखते समय उस पर views भी देखते है होंगे एक विडियो पर लाखों करोड़ो लोगों द्वारा वो विडियो देखा गया होता है। आप भी youtube partner बन सकते है मेरा मतलब इसके लिए आपको youtube पर अकाउंट बनाना पड़ेगा और उसमे अपने विडियो अपलोड करने है अगर आप अमीर और मसहूर बनना चाहते है तो ये तरीका बहुत ही उपयोगी साबित हो सकता है।  
ज्यादा जानकरी के लिए ये पढ़े - Youtube partner banakar paise kaise kamate hai

4 .  Start your own business (अपना खुद का व्यापार  शुरू करे )

एक बहुत ही पुरानी कहावत है की "नीच नौकरी, मध्यम व्यापार, उत्तम खेती"। यानी business को नौकरी से अच्छा माना गया है यदि आप वाकई में अमीर बनना चाहते है तो अपना खुद का व्यापार start करे। आप शुरू में छोटे से धंधे से शुरू करे और धीरे-धीरे उसे बढ़ाने की कोशिश करे। अगर आप किसी जनसंख्या, विकसित शहर और व्यपार अनुकूल परिस्थिति वाले इलाके में रहते है तो business आपके लिए मील का पत्थर साबित हो सकता है। 

 जल्दी अमीर बनने के 4 risky और popular तरीके 

अगर आप जल्दी और shortcut तरीके अमीर बनना चाहते है चाहते है तो आपको थोड़े पैसे खर्च करने पड़ेंगे और थोड़ा जोखिम भी लेना पड़ेगा। अगर आप ये सब कर पाते है तो ये 4 methods आपके लिए best हो सकते है। 

1. KBC (कौन बनेगा करोड़पति ) - सामान्य ज्ञान ही आपका भविष्य बनाता है अगर ऐसा कहे तो शायद गलत नहीं होगा क्योंकि कई main govt एग्जाम में generel knowledge का बड़ा महत्वपूर्ण role है। generel knowledge को compitatives exam के अलावा एक और जगह present किया जा सकता है और वो है कौन बनेगा करोड़पति (KBC) ये एक ऐसा WAY जो आपको आपके ज्ञान के पैसे देता है। अगर आप रातों - रात करोड़पति बनना चाहते है तो KBC में जरूर जाए। इसके लिए आपको वर्तमान सामान्य ज्ञान और हर विषय से related gk की महत्वपूर्ण knowledge होनी चाहिए। 

2. Invest in Share market (शेयर बाजार में पैसे लगाकर) - अगर share market को जुआ कहा जाए तो गलत नहीं होगा लेकिन ये legal है। अगर आपके पास पैसे है और आप शेयर बाजार में निवेश कर सकते है और शेयर खरीद सकते है इस काम में आपको अपने लगाए हुए पैसे के दुगने से चौगुने मिल सकते है। लेकिन ये तभी संभव है जब शेयर बाजार में गिरावट ना आये। अगर आप जोखिम लेकर पैसे इसमें इन्वेस्ट कर सकते है तो ये आपके लिए अमीर बनने का अच्छा मौका हो सकता है। आप व्यापार  और शेयर बाजार की स्थिति देखकर ही पैसे लगाए नहीं तो आपके पैसे डूब भी सकते है। 

3.lottery system - ये भी शेयर बाजार की तरह ही  है लेकिन आपको इसमें ज्यादा पैसे नहीं लगाने हैलॉटरी system से आप जल्दी और shortcut way से अमीर बन सकते है ये आपके luck पर depend करता है की लगेगी या नहीं अगर किस्मत मेहरबान हो जाए तो रङ्क को राजा  और राजा को रंक बना  सकती है।  अगर आपको लगता है की आपका नसीब आपकी तकदीर बदल सकता है तो आप ये काम कर सकते है। 
 
4 Open Your own institute - अगर आपके पास कॅश है तो आप अपना खुद का शिक्षण संस्थान  के लिए apply कर सकते है। आप अपना खुद का स्कूल खोल सकते है, sport club खोल सकते है और ऐसा कोई institute ओपन कर सकते है जहाँ लोगों को कुछ सिखाया जा सके।  वर्तमान स्थिति में ये काम आपके लिए बहुत profitable (लाभदायक) हो सकता है

ये भी पढ़िए -
Conclusion - ये थे कुछ अमीर बनने के तरीके अगर आप वाकई में अमीर बना चाहते है तो अपने अंदर छुपी ability को पहचाने और आगे बढे सफलता आपके कदम चूमेगी। 
आशा करता हूँ की आपको ये पोस्ट अमीर कैसे बने पसंद आयी होगी आप इस पोस्ट को सोशल साइट्स पर शेयर  कर सकते है ।  अगर आप हम से कोई सवाल पूछना चाहते है तो कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है। 

Sunday, April 9, 2017

how to use atm card in hindi - ATM से पैसा निकालने का तरीका

how to use atm card first time in hindi ATM से पैसे कैसे निकाले। एटीएम से पैसा निकालने का तरीका क्या है। इसके बारे में हम आज की पोस्ट में discuss करेंगे। ATM card जिससे चलती फिरती बैंक भी कहा जाता है impatient persons के लिए बड़ी उपयोगी है। ये हमारे शहर में हमें कहीं भी मिल जाता है और हम इससे आसानी से लेन - देन कर देते है। 

लेकिन problem हमारे सामने तब आती है जब हमें ATM Se case निकालने की process (विधि) नहीं आती है। हो सकता है आपने अभी ही नए card के लिए apply किया है और आपको पता नहीं की ATM से Rupees कैसे निकालते है। इसलिए में ये article ऐसे दोस्तों के लिए ही लिख रहा हूँ जिसमे आपको A to Z ATM Se paise निकालने की प्रक्रिया मिलेगी। 

ATM से case draw करने के लिए आपके पास क्या - क्या होना चाहिए।  

जाहिर सी बात है इसके लिए आपके पास अपना atm card होना जरुरी है वो कोई भी वो सकता है जैसे Visa, rupay, master card आदि। इसके अलावा आपके bank account  चाहिए। और उसी account से एटीएम connect भी होना चाहिए तभी आप case प्राप्त कर सकते है। 


एटीएम से Money निकालते समय ये सावधानियां जरूर रखे। 
  • आपको एटीएम Pin number पता होना चाहिए। 
  • पैसे खुद ही निकाले दूसरों से न कहे।  
  • सही details fill करे। 
  • Case निकलने के बाद us window को exit kar de. 
  • अपना चार अंको के pin number आपको याद होना चाहिए। ये किसी भी ATM कार्ड पर नहीं लिखा होता। 
  • पिन नंबर दूसरों को न बताएं। 
  • case प्राप्त होने के बाद रूपए गिन ले और रसीद लेना न भूले। 

तो चलिए friends अब जानते है की पैसे निकालने के लिए एटीएम card का use (उपयोग) कैसे करे। 

How to use ATM card in hindi - ATM से पैसे कैसे निकाले ?

1. सबसे पहले आप किसी भी नजदीकी एटीएम पर जाए। और ATM machine के right side में slot होता है उसमे अपना कार्ड enter करे। और तुरंत बाहर निकाल दे। 

2. जब आप कार्ड वापस बाहर निकाल देंगे उसके बाद सामने screen पर आपको select your language का विकल्प दिखाई देगा। आपको अपनी सुविधानुसार भाषा सेलेक्ट करनी है।  अगर english चुने तो बेहतर होगा इससे आप computer screen पर show होने वाले options को आसानी से समझ सकते है। 

3. Next स्टेप में यानी अपनी भाषा select करने के बाद आपको अपने ATM के 4 digit के secret पिन नंबर डालने को कहा जाएगा। अपना pin number enter करे।  
note - आप जानते है की Atm center के अंदर कैमरा लगा हुआ होता है तो आप सावधानी से अपना pin dale. 

4. उसके बाद आपके सामने कई new option show हो रहे होंगे जिसमे आपको banking को choose करना है। 

5. Banking पर click करने के पश्चात आपके सामने और विकल्प दिखाई देंगे जिसमे case withdrawl पर क्लिक करना है।  

6. saving and current का विकल्प आपको दिखाई देगा। सुनिश्चित करे आपका account किस टाइप का है यानि current है या saving. ज्यादातर लोगों का बचत खाता ही होता है so आप saving पर क्लिक करे। 

7. Ab last step में आपको ये पुछा जाएगा की आप कितना पैसा निकालना चाहते है। आप जितने पैसे निकालना चाहते है अपना amount enter करे। और yes पर क्लिक करे। कुछ ही सेकंड में transaction हो जाएगा और पैसे निकल जाएंगे। उसको अच्छी तरह गिन ले।  और last में clear पर click करके exit हो जाए। 


So मी friends ये थी हमारी post की ATM से पैसे कैसे निकालते है। उम्मीद करता हूँ की आपको एटीएम से case निकालने का तरीका और पूरी विधि आसानी से समझ आयो होगी। 

लेकिन फिर भी यदि आपका इस article से related को question है तो आप हमें comment box में पूछ सकते है। और इस post को share करना भी न भूले जिससे दूसरे लोगों की भी हेल्प हो सके।  

Wednesday, April 5, 2017

अपने लक्ष्य को सफल बनाने के लिए इन तरीको को अपनाये सफलता जरूर मिलेगी

नमस्कार दोस्तों इस दुनिया में कई ऐसे लोग है जो अपने लक्ष्य को लेकर थोड़े चिंतित रहते है सोचते है की आखिर अपने लक्ष्य को किस प्रकार पूरा किया जाए। हर इंसान अपनी लाइफ में आगे बढ़ने के लिए एक लक्ष्य निर्धारित करता है उसे पूरा करने के लिए अपना जीजान लगा देता है। लेकिन कुछ ही लोग अपने टारगेट को पूरा कर पाते है। हर इंसान सफलता चाहता है। सबका सफलता प्राप्त करने का रास्ता भी अलग-अलग होता है। आपको लक्ष्य हासिल करने के लिए खुद ही अपना रास्ता तय करना पड़ता है। प्रसिद्ध लेखक जॉन ने अपनी पुस्तक 'द 8 ट्रेट्स सक्सेसफुल पीपल हैव इन कॉमन' के लिए 500 से ज्यादा सफल लोगो का इंटरव्यू किया। इनमे बिल गेट्स और रिचर्ड ब्रानसन जैसे लोग भी शामिल है। उन्होंने अपने इंटरव्यू का विश्लेसण किया और 300 से ज्यादा सक्सेस फैक्टर्स का पता लगाया। इससे लक्ष्य प्राप्त करने की दिशा में आगे बढ़ सकते है। उनमे  कुछ बेहतरीन फैक्टर्स को यहाँ में अपने ब्लॉग के माध्यम से आप लोगों के साथ शेयर कर रहा हूँ। 

अगर आपको अपने लक्ष्य को सफल बनाना है तो अपने जीवन में ये तरीके जरूर अपनाये।

How to complete your target in life

Passion is inevitable - पैशन अनिवार्य है
 
दुनिया में दो तरह के लोग होते है एक तो वे लोग जिन्हें पता होता है  जीवन में क्या करना है। दूसरे वे लोग होते है जो अपना लक्ष्य तलासते रहते है। जिन लोगो को पता होता है की उनका लक्ष्य क्या है, वे अपने जीवन के शुरुवाती दौर से ही अपना लक्ष्य पाना लक्ष्य प्राप्त करने की कौशिश में लग जाते है। वहीँ दूसरी तरफ कुछ लोगों को पता करना पड़ता है की वे किस चीज से प्यार करते है। अगर पता करना चाहते है की आपका पैशन क्या है तो खुद से सवाल करे की क्या आप वह काम फ्री में कर सकते है।  अगर जवाब हाँ में है तो समझ ले की पैशन का पता लग चुका है।
आपको जो काम करना पसंद है उसे अपना प्रोफेशन बनाये। इससे आपको पता ही नहीं लगेगा की आपने कब काम किया। इससे खुद की खूबियों को निखारने की दिशा में भी काम करेंगे।
Do any work in entertainment - कोई काम में मनोरंजन करो 

आपको सफल बनने के लिए कड़ी मेहनत करना जरुरी है। साथ यह भी जरुरी है की किसी भी काम को पूरे तन - मन से किया जाना चाहिए। थकावट और बोरियत को अपने पास आस भी ना आने दे। यह तभी सम्भव है जब आप कोई भी काम पूरे मनोरंजन के साथ करेंगे।  किसी भी काम को एन्जॉय के साथ किया जाना जरुरी है नहीं तो वो हमारे लिए लिए मजबूरी बन जाती है और हम अपने वर्क पर सही तरीके से फ़ोकस नही कर पाते है यदि आपका उस काम में इंटरेस्ट होगा तभी वो काम आपको पसंद आएगा। 
अपने लक्ष्य तक पहुँचने के लिए आपको थोड़ा सब्र भी करना पड़ेगा

कंफर्ट जोन को छोड़ना पड़ेगा- Would leave comfort zone

अगर आप सफल होना चाहते है तो आपको अपना कंफर्ट जोन छोडना पड़ेगा। आप डर,  शर्म और संदेह को अपने जीवन  से दूर करना होगा। शर्म, डर और संदेह किसी भी इंन्सान को अपने लक्ष्य तक पहुँचने से रोकते है। बिना किसी हिचक के अपने सपने पूरे करने में जुट जाएँ। आपको एक जीवन मिला है, उससे डर - डरकर जीने से कुछ मिलने वाला नहीं है। खुलकर अपना जीवन जीने की कोशिश करे। आपको सफलता जरूर मिलेगी। अपना लक्ष्य खोजे, खुद को चुनौती दे , डेडलाइन सेट करे, स्वानुशासन को मेंटेन करे।

स्पेसिफिक फोकस भी होना चाहिए - Specific focus should be

अपने लक्ष्य को कम्पलीट तरीके से अपने मुकाम तक अग्रसर करने के लिए आपको अपने वर्क टारगेट पर पूर्ण फ़ोकस करना होगा। आपको किसी ख़ास फील्ड में स्पेशलाइजेसन प्राप्त करना होगा। स्टार्ट में बड़े विकल्पों का चयन कर सकते है,पर बाद में एक खास फील्ड में आपको अपना हुनर विकसित करना पड़ेगा। जब जीवन में किसी एक ख़ास चीज को चुनकर उसे नया आयाम देते है तो सफलता मिलने लगती है। अगर आपको कंप्यूटर के क्षेत्र में सफल होना है तो ये पता करे की आपकी रुचि हार्डवेयर में है या सॉफ्टवेयर में। 

नए आइडियाज जनरेट करे -To generate new ideas
  
आपके सामने समस्याएं होनी चाहिए क्योंकि बड़े विचार रोजमर्रा के जीवन से ही निकलते है। सबकी बात सुने, सवाल पूछे, एक आईडिया उधार ले और उससे नए आईडिया तैयार करे। कनेक्शन्स तैयार करे, जो आप गलितयां करे उन्हें और अपने विचारों को लिपिबद्ध करते जाए। जब समस्याओं के बारे में नए -नए विचार आएंगे तो आप उन्हें मूर्त रूप दे देंगे।  
सफलता प्राप्त करने वाले आइडियाज को नजरअंदाज नहीं करते है बल्कि वे नए आइडियाज विकसित करते है।

फेलियर के दौरान धैर्य बनाये रखे - Failure to retain the patience

जीवन में सफलता कभी रातों रात नहीं मिलती है। सफलता प्राप्त करने के लिए असफलता से सामना करना ही पड़ता है। आप असफलता से किस तरह डील करते है आपके उससे क्या नया सीखते है  यही बात सबसे महत्वपूर्ण है। इसी से सफलता तय होती है। फेलियर को सही तरह से इस्तेमाल करने पर आप सफल हो सकते है। फेलियर के दौरान धैर्य बनाये रखे। हो सकता है की आप विफलताओं से थककर अपनी हार बदलने की ठान ले पर आपको हार नहीं माननी है।  अगर आप डटे रहंगे तो सफलता मिलने की संभावना भी बढ़ जायेगी। 

फाइनल वर्ड्स फॉर यू - जो व्यक्ति सफलता प्राप्त करता है वह लगातार अपने करियर, प्रोजेक्ट, प्रोडक्ट,सर्विस में सुधार करता है। लगातार सुधार का अर्थ है किसी को काम में खुद को अच्छा बनाना और उसमे सुधार करते हुए बेस्ट बन जाना। शुरुआत में सब गलती करते है पर जो इंसान इन गलतियों को दूर करके खुद की खूबियों को निखारता है वह सफल हो जाता है।  

Tuesday, April 4, 2017

Computer knowledge in hindi - कंप्यूटर की पूरी जानकारी

Computer basic knowledge in hindi नमस्कार दोस्तों आज हम इस post के माध्यम से आपको बता रहे है की कंप्यूटर क्या होता है, इसकी प्रमुख भाषाएं कौन-कौन सी है और कंप्यूटर के प्रमुख भाग कौनसे होते है। 

जबसे कंप्यूटर बना है science बहुत आगे बढ़ गया है। ये एक technology का अविश्वसनीय अविष्कार है। आज लगभग  दुनिया के हर कोने तक इसकी पहुंच है। बच्चा - बच्चा computer से वाकिफ है। students, business person, service man हर के किसी के जीवन का अभिन्न part बन चुका है। 

इसके अलावा भी दुनिया के कई ऐसे इलाके है जहाँ तक अभी तक कंप्यूटर नहीं पहुँच पाया है और वो computer के बारे में नहीं जानते या बहुत कम जानते है। तो ये post आपके लिए है इसके इसमें आपको computer fundamental in hindi के बारे में पूरी जानकरी आपके साथ शेयर करंगे। 

Basic knowledge of computer fundamental - computer ki poori jankari 

कंप्यूटर क्या है - आज का युग कंप्यूटर का युग है। आज के जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में कंप्यूटर का समावेश है। वृहत पैमाने  पर गणना करने वाले इलेक्ट्रॉनिक संयत्र को संगणक अथवा कंप्यूटर कहते है। साधारण शब्दो में ऐसे कोई भी कार्य जो बड़े पैमाने पर इन्टरनेट पर जिस उपकरण पर किये जाते है उसे कंप्यूटर कहते है। 


Basic knowledg of computer fundamental in hindi


अर्थात कंप्यूटर वह device है जिसके द्वारा स्वचालित रूप से विविध प्रकार के data को संसाधित एंव संचयित किया जाता है। वर्तमान स्वरुप का पहला कंप्यूटर मार्क - 1 था जो 1937 ईसवीं में बना था। 

कंप्यूटर के कार्य - वैसे तो कंप्यूटर के कार्यों के बारे में किसी notebook में लिखे तो कलम की स्याही खत्म हो जाए। पर यदि हम technically रूप से देखे तो उसके चार मुख्य कार्य हमारे सामने आते है। 
  • आंकड़ों का संकलन या निवेशन। 
  • आंकड़ों का संचयन।
  • आंकड़ों का संसाधन। 
  • आंकड़ों या प्राप्त जानकारी का निर्गमन या पुनर्निर्गमन। आंकड़े लिखित,मुद्रित,श्रव्य द्रश्य रेखांकित या यांत्रिक चेष्टाओं के रूप में हो सकते है। 
कंप्यूटर इन कार्यों को दो प्रमुख भागो के द्वारा सम्पन करता है - हार्डवेयर और सॉफ्टवेर। 

हार्डवेयर क्या है - कंप्यूटर और उसके सलंग्न सभी यंत्रो और उपकरणों को हार्डवेयर कहा जाता है यानी कंप्यूटर के सभी भागो जैसे CPU, Keyboard, memory, monitor, mother board आदि को मिलाकर हार्डवेयर कहा जाता है। 

सॉफ्टवेर क्या है - सॉफ्टवेर उसे कहते है जो कंप्यूटर में पहले से नहीं होते है उसे बाद में कहीं play store या की अन्य websites से ख़रीदा जाते है। जैसे photoshop, antivirus, games apps, आदि अतः कंप्यूटर के संचालन के लिए निर्मित प्रोग्रामों को सॉफ्टवेर कहा जाता है। 

कंप्यूटर की भाषाएँ (languages  of computer ) 

कंप्यूटर  की भाषाओँ को मुख्यतः तीन वर्गों में बांटा जा सकता है। 
1. मशीनी कूट भाषा (machine code language)
2. एसेम्बली कूट भाषा (assembly code language) 
3. उच्च स्तरीय भाषाएँ (High level language)

मशीनी कूट भाषा - इस भाषा में प्रत्येक आदेश के दो भाग होते है - आदेश कोड (operation code) तथा स्थिति code (Location code) इन दोनों को 0 और 1 के क्रम में समूहित किया जाता है। कंप्यूटर के प्रारंभिक दिनों में programmers द्वारा कंप्यूटर को आदेश देने के लिए 0 तथा 1 के विभिन्न क्रर्मो का ही प्रयोग किया जाता था। यह भाषा समयग्राही थी। जिसके कारण असेम्बली एंव उच्च स्तरीय भाषाओँ का प्रयोग किया जाने लगा। 

असेम्बली भाषा - इस भाषा में याद रखे जाने लायक CODE का प्रयोग किया जाता है। जिसे नेमोनिक कोड कहा गया। जैसे addition के लिए add substraction के लिए sub एंव jmp लिखा गया। परन्तु इस भाषा का प्रयोग एक निश्चित सरंचना वाले कंप्यूटर तक ही सिमित था।अतः इन भाषाओ को निम्न स्तरीय भाषा कहा गया। 


उच्च स्तरीय भाषाएं - उच्च स्तरीय भाषाओँ के विकास का श्रेय IBM company  को जाता है। फॉरट्रेन (FORTRAIN) नामक पहली उच्च स्तरीय भाषा का विकास इसी कंपनी के प्रयास से हुआ। इसके बाद सैंकड़ों उच्च स्तरीय भाषाओं का विकास हुआ। ये भाषाएं मनुष्य के आम बोलचाल के लिए और लिखने में प्रयुक्त होने वाली भाषाओं के काफी करीब थी। कुछ उच्च स्तरीय भाषाएं निम्न प्रकार है -

A. फॉरट्रेन (Fortran) - कंप्यूटर के इस language का विकास IBM के सौजन्य से डब्ल्यू. बेकस ने 1957 में किया था। इस भाषा का विकास गणितीय सूत्रों  आसानी से और कम समय में हल करने के लिए किया था। 

B. कोबोल (Cobol) - कोबोल वास्तव में common business oriented language का संक्षिप्त रूप है। इस भाषा का विकास व्यावसायिक हितों के लिए किया गया। इसकी भाषा की संक्रिया के लिए लिखे गए वाक्यों के समूह को पैराग्राफ  कहते है। सभी पैराग्राफ मिलकर एक section बनाते है और सेक्शनों से मिलकर division बनता है।  

C. बेसिक (Basic) - यह अंग्रेजी के शब्दों बिंगनर्स ऑल पर्पस  सिम्बोलिक इंस्ट्रक्शन कोड का संक्षिप्त रूप है। इस भाषा में प्रोग्राम में निहित आदेश के किसी निश्चित भाग को निष्पादित किया जा सकता है, जबकि इससे पहले की भाषाओँ में पूरे प्रोग्राम को कंप्यूटर में डालना होता था और प्रोग्राम के ठीक होने पर आगे के कार्य निष्पादित होते थे। 

D. अल्गोल (Alogol) - यह इंग्लिश के algorithmic  language का संक्षिप्त रूप है। इसका निर्माण जटिल बीज गणितीय गणनाओ में प्रयोग हेतु बनाया गया था। 

E. पास्कल (Pascal) - यह alogol का परिवर्तित रूप है। इसमें सभी चरों को परिभाषित किया किया जाता है जिसके कारण यह alogol एंव basic से भिन्न है। 

F. कोमाल (Comal) - यह common algorithmic language का short roop है। 

G. लोगो (Logo) - इस भाषा का use छोटी उम्र के बच्चों को ग्राफिक रेखानुकृतियों की शिक्षा देने के लिए किया जाता है। 

H. प्रोलोग (Prolog) - यह word programming in logic का short रूप है। इस भाषा का विकास 1973 ईसवीं में फ़्रांस में किया गया था। इसका विकास कृत्रिम बुद्धि के कार्यों के लिए किया गया जो तार्किक programming में सक्षम है। 

I. फ़ोर्थ (Forth) - इस भाषा का अविष्कार चार्ल्स मूरे ने किया था। इसका उपयोग कंप्यूटर के सभी कार्यो में होता है। इन सभी उच्च स्तरीय भाषाओं में एक समानता है। की लगभग सभी में अंग्रेजी के वर्णो (A,B,C,D,...आदि) एंव इंडो - अरेबियन अंको (0,1,2,3,4....आदि) के लिए किया जाता है। 

Note : - PILOT, C, C++, LISP, UNIX AND ANOBOL कुछ अन्य उच्च स्तरीय भाषाएँ है। 


कंप्यूटर के प्रमुख भाग - basic parts of computer in hindi 

CPU - यह central processing unit की short फॉर्म है। इसे computer को on करने के लिए इसे करते है। इसे कंप्यूटर का मस्तिक भी कहा जाता है। 

RAM - यानी random access memory. सामान्य भाषा में इसे computer की याददास्त कहा जाता है। जिसमे हम data को folder बनाकर सेव कर सकते है। RAM की गणना मेगाबाइट्स से होती है। 

ROM - read only memory.  यह हार्डवेयर का वह पार्ट है जिसमे सभी information permanently रूप से इकठ्ठा रहती है। और जो कंप्यूटर को प्रोग्राम संचालित करने का निर्देश देता है। 

Hard-disk - इसमें कंप्यूटर के लिए प्रोग्रामों को store करने का कार्य होता है। 

Mother-board - यह सर्किट बोर्ड होता है जिसमे कंप्यूटर के प्रत्येक प्लग लगाए जाते है। CPU RAM आदि यूनिटें मदर बोर्ड में ही संयोजित होती है। 

Floppy Disk Drive - यह सूचनाओं को सुरक्षित करने या सूचनाओ का एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में आदान-प्रदान करने में प्रयुक्त होता है। 

CD-ROM - सीडी रोम यानी compact disk छोटे से आकार में होते हुए भी बहुत बड़ी मात्रा में आंकड़ों एंव चित्रो को ध्यनियों के साथ संग्रहित करने में सक्षम होता है। 

Key-board - कंप्यूटर की लेखन प्रणाली के लिए उपयोग में लाया जाने वाला उपकरण की बोर्ड कहलाता है। सामान्यतः 101 कीबोर्ड को अच्छा माना जाता है। 

Mouse - इसकी सहायता से स्क्रीन पर कंप्यूटर के विभिन्न प्रोग्रामों को ऐसे के माध्यम से संचालित किया जाता है। 

Monitor - इस पर कंप्यूटर में निहित जानकारियों को देखा जाता है। अच्छे रंगीन मॉनिटर में 256 रंग आते है। मॉनिटर में डॉट पिच का उपयोग होता है। डॉट पिच पर जितने कम नंबर होते है। स्क्रीन पर उभरने वाली छवि उतनी ही साफ़ और गहराई के लिए होती है। 

Sound-card - यह जरुरी बातों और जानकारियों को सुनने के साथ-साथ मल्टीमीडिया के बढ़ते प्रयोग के लिए आवश्यक है। 

Printer - इसकी help से computer पर अंकित आंकड़ों को कागज़ पर मुद्रित किया जाता है। डॉट मैट्रिक्स, इंक जेट,बबल जेट और लेजर जेट प्रमुख प्रिंटर है। 


कंप्यूटर वायरस क्या है - What is Computer virus  ?

कंप्यूटर वायरस एक प्रकार का इलेक्रोनिक कोड है, जिसका उपयोग कंप्यूटर में समाहित सूचनाओ को समाप्त करने के लिए होता है। इसे कंप्यूटर प्रोग्राम में, किसी टेलीफोन लाइन में दुर्भावनावश प्रेषित किया जा सकता है। 

इस कोड से गलत सूचनाएं मिल सकती है, एकत्रित जानकारी नष्ट हो सकती है तथा यदि कोई कंप्यूटर किसी नेटवर्क से जुड़ा है तो इलेक्ट्रॉनिक रूप से जुड़े होने के कारण यह वायरस सम्पूर्ण नेटवर्क को प्रभावित कर सकता है। 

फ्लॉपियों के आदान-प्रदान  से भी वायरस के फैलने का डर रहता है। ये महीनो,सालों तक बिना पहचाने गए ही कंप्यूटर में पड़े रह सकते है और इसे क्षति पहुंचा सकते है। इनकी रोकथाम के लिए इलेक्ट्रॉनिक सुरक्षा व्यवस्था विकसित की गयी है। कुछ मुख्य कंप्यूटर वायरस है - michel angelo, dark avenger, kilo, filip, c brain, bloody, change mungu. 

So friends ये थी हमारी पोस्ट Computer knowledge in hindi . मैं उम्मीद करता हूँ की इसमें आपको कंप्यूटर के बारे में लगभग पूरी जानकारी मिली होगी। आपको ये पोस्ट कैसी लगी आप हमें comment के through बता सकते है। और कृपया इस पोस्ट को share जरूर करे।